aarogya-setu-app
Technology

आरोग्य सेतु एप की संपूर्ण जानकारी

Spread the love

कोरोना वायरस ने धीरे धीरे लगभग विश्व के सभी देशो को अपनी जद में कर लिया है। पीड़ितों की और मृतकों की संख्या बढ़ती ही जा रही है और अभी तो फिलहाल इस पर नियंत्रण भी नहीं हो पा रहा है। भारत सरकार ने जल्द ही स्तिथी को भांपकर कदम उठा किये थे इसलिए ये कह सकते हैं कि भारत ने बहुत हद तक कोरोना वायरस पर नियंत्रण कर रखा है लेकिन अभी भी कहना बहुत मुश्किल है कि ये महामारी कब ख़तम होगी। अब भारत सरकार कोरोना वायरस से लड़ने के लिए तकनीकी का भी सहारा ले रही है। भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने अभी हाल ही में आरोग्य सेतुनामक एक एप लांच किया है जिसका उद्देश्य कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकना है और घरों में जिन लोगों को क्वारंटीन किया गया है, उन पर नज़र रखना है। इसके अलावा सरकार को कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की लोकेशन और कॉल हिस्ट्री के जरिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करने में भी मदद मिलेगी। इस एप के लांच होने के 4 दिन में ही इसे 1 करोड़ से ज्यादा लोगो ने डाउनलोड कर लिया था। भारत सरकार और राज्य सरकारें भी इस एप को डाउनलोड करने को जोर दे रही है। इसके ज़रिए लोग अपने आसपास कोरोना के मरीज़ों के बारे में भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में यह भी कहा गया है कि इस एप पर यूजर्स की निजता का पूरा ध्यान रखा जायेगा।

आरोग्य सेतु एप कैसे काम करता है?

यह एप आपकी लोकेशन और ब्लूटूथ की सहायता से यह जांचता है कि आपके पास कोई संक्रमित व्यक्ति या संभावित संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। साथ ही यह एप संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने की आशंका के बारे में अलर्ट भी करता है। यह एप तभी काम करेगा जब आपकी लोकेशन और ब्लूटूथ दोनों ऑन होंगे अन्यथा यह काम नहीं करेगा।

यूं करें डाउनलोड और उपयोग:

इस एप को आप एंड्रॉयड और आईफोन, दोनों तरह के स्‍मार्टफोन पर डाउनलोड कर सकते हैं। अंग्रेजी और हिंदी समेत आरोग्‍यसेतु एप 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्‍ध है। एप डाउनलोड करने के लिए सर्च बार में ‘AarogyaSetu’ टाइप करें। हमने नीचे लिंक भी दिए हैं:

एंड्रॉयड : https://playgooglecom/store/apps/details?id=nicgoiaarogyasetu

आईओएस : https://appsapplecom/in/app/aarogyasetu/id1505825357

आरोग्यसेतु एप को डाउनलोड करने के बाद इनफॉर्मेशन पेज को ध्‍यान से पढ़ें और रजिस्‍टर नाउबटन पर टैप करें। जैसा कि आपको बताया गया है कि यह एप तभी काम करेगा जब आपकी लोकेशन और ब्लूटूथ दोनों ऑन होंगे तो आप इस एप को काम करने के लिए इसकी अनुमति दें। आरोग्य सेतु कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग के लिए आपके मोबाइल नंबर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा का उपयोग करता है और बताता है कि आप कोरोना के जोखिम के दायरे में है या नहीं।

अपने फोन को रजिस्‍टर करें:

एप डाउनलोड होने के बाद आप अपना मोबाइल नंबर उसमे रजिस्टर करें। आपके बताये गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। उस ओटीपी नंबर से वेरीफाई करें।

इसके बाद एक वैकल्पिक फॉर्म भी आता है जो नाम, उम्र, पेशा और पिछले 30 दिनों के दौरान विदेश यात्रा के बारे में आपसे पूछता है। इस एप में, अगर आप जरूरत के समय में वॉलेंटियर यानी स्वयंसेवक बनने की इच्छा रखते हैं तो आपके पास खुद को इसमें नामांकित करने का विकल्प भी है।

आपके रजिस्ट्रेशन के बाद यह एप दो रंगो में प्रदर्शित होता है; हरा और पीला जो कि आपके जोखिम के स्तर को बताता है।

  • यदि यह हरे रंग में दिखता है तो यह ये बताता है कि आप सुरक्षित हैं और आस पास कोई खतरा नहीं है।
  • यदि यह पीले रंग को प्रदर्शित करता है तो यह ये बताता है कि आप या तो जोखिम में हो या हो सकते हो। ऐसे अवस्था में आपको हेल्‍पलाइन से तुरंत संपर्क करना चाहिए। आरोग्‍यसेतु एप पर आप सेल्‍फ एसेसमेंट टेस्‍टफीचर का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस फीचर का इस्‍तेमाल करने के लिए ऑप्‍शन पर क्लिक करें और फिर एप चैट विंडो खोल देगा। इसमें यूजर की सेहत और लक्षण से जुड़े कुछ सवाल किए जाएंगे।

आप इस एप पर हेल्‍पलाइन नंबर का भी पता लगा सकते हैं। इसके लिए आपको कोविड-19 हेल्‍थ सेंटर्स बटन पर क्लिक करना होगा और अपने शहर की लोकेशन तक पहुंचने के लिए स्‍क्रॉलडाउन करना होगा।

आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के लिए सभी सरकारें एवं सभी विभाग जोए दे रहे हैं। रेलवे मंत्रालय ने अपने 13 लाख कर्मचारियों को इस एप को डाउनलोड करने के लिया कहा है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने भी सभी शैक्षणिक संस्थाओ से जुड़े सभी कर्मचारी एवं छात्रों को भी यह एप डाउनलोड करने के लिए कहा है। वहीँ गृह मंत्रालय ने भी अपने सभी विभागों एप डाउनलोड करने के लिए कहा है। विदेशो में भी इसी तरह के एप बनाये गए है जो कि इस महामारी से लड़ने का एक अस्त्र साबित हो रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top